Download app | Follow Us On :

अद्यतन सामयिक घटनाओं को नियमित रूप से पढ़ें (Read updated Current affairs regularly)

Read updated Current Affairs (अद्यतन सामयिकी)| Develop India Group

Relevant & Updated Current Affairs (अद्यतन सामयिकी)

We are uploading relevant current affairs regularly in Hindi and english language.

If you want to read online current affairs in Hindi (Click here)

If you want to read online current affairs in English (Click here)

नई दिल्ली के विज्ञान भवन में स्वच्छता सर्वेक्षण 2019 के पुरस्कारों की घोषणा हुई। इंदौर सबसे स्वच्छ शहर रहा। 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में अहमदाबाद पहले पायदान पर रहा। 3-10 लाख आबादी वाले शहरों में उज्जैन ने मारी बाजी और 1-3 लाख आबादी वाले शहरों में एनडीएमसी दिल्ली ने अपना परचम लहराया। सबसे स्वच्छ राजधानी में भोपाल अव्वल पायदान पर रहा। 

इंदौर सबसे स्वच्छ शहर रहा। 10 लाख से अधिक आबादी वाले शहरों में अहमदाबाद पहले पायदान पर रहा। 3-10 लाख आबादी वाले शहरों में उज्जैन ने मारी बाजी और 1-3 लाख आबादी वाले शहरों में एनडीएमसी दिल्ली ने अपना परचम लहराया। सबसे स्वच्छ राजधानी में भोपाल अव्वल पायदान पर रहा, नमामि गंगे योजना में उत्तराखंड के गोचर अव्वल रहा तो वेस्ट परफोर्मिग राज्य में छत्तीसगढ़ पहले, झारखंड दूसरे और महाराष्ट्र तीसरे दर्ज पर रहा। 

साल 2016 में शुरू होनेवाले स्वच्छता सर्वेक्षण में महज 73 शहरो ने हिस्सा लिया था, 2017 में 434 शहर , 2018 में 4041 शहर, और साल 2019 में 4273 शहरों ने जुड़कर इसे दुनिया का सबसे बड़ा सर्वे बना दिया। जिसमें करीब 40 करोड़ शहरी आबादी जुड़ी। 64 लाख नागरिको के फीडबैक आये। 4.5 करोड़ लोग सोशल मीडिया से जुड़े। 41 लाख जीओटैग फोटो खीचे गये। जहां डोर टू डोर कचरा कलेक्शन और पूर्णरूपेण डिजिटल सर्वेक्षण किताबी बातें नहीं बल्कि सच्चाई बनकर सामने आई।

केवल 28 दिनों में पूरा होनेवाले इस सर्वे में स्टार रेटिंग, ओडीएफ प्लस, ओडीएफ प्लस प्लस ने देश के सभी शहरों में आगे बढ़ने की होड़ लगा दी। शहरों में कचरे से कम्पोस्ट बनाना, सुन्दर पार्क बनाना, गंदगी को दूर कर स्वच्छ और स्मार्ट शहर के निर्माण ने सर्वे को नई बुलंदियों तक पहुंचा दिया।